WHY & WHEN | क्यों और कब

नशा मुक्ति उपचार की आवश्यकता क्यो :-
WHY & WHEN YOU REQUIRE US?
कोई भी व्यक्ति जब नशा करना शुरू करता हैं, तब वह यह सोच कर नशा नही करता हैं कि वह आगे चल कर नशे का आदि बन जाएगा | लेकिन धीरे-धीरे व्यक्ति नशे के जाल में फँस जाता हैं और उसे यह समझ में नही आता कि मैं इसमें कैसे फँस गया |

उस समय व्यक्ति के परिवार वाले कई तरह से उसे नशा मुक्त करने हेतु प्रयास करते हैं|

कई बार खुद नशाग्रस्त व्यक्ति नशे से छुटकारा पाना चाहता हैं| लेकिन उसे सफलता नही मिलती, क्योंकि उन्हे यह पता नही हैं कि नशे का आदि होना एक बीमारी हैं और इसका इलाज संभव हैं |
Whenever a person starts an intoxication, he never assumes that he will get addicted, he just starts the same for a few moments of pleasure. But slowly finds himself caught in the trap.

At this time the family members try to help the addict, and the addict himself tries to come out of addiction but fails.

At this time he can seek of a drug addiction centre like us, which can help him find the real cause of the problem.(Physical/Mental). He should know that this is a disease and he needs a cure for that.

लगातार नशा करने से व्यक्ति का कई प्रकार से नुकसान होता है :-
WHAT THE PATIENT SHOULD KNOW ABOUT EFFECTS OF ADDICTION?
शारीरिक नुकसान :- लगातार नशा करने से शरीर के हर एक अंग पर इसका असर होता हैं और व्यक्ति दिनो-दिन कमजोर होता जाता हैं। जैसे की भूख न लगना, हाथ पैर कॉपना, लीवर कमजोर होना, वजन का कम होना, हाथ, पैर व सर में दर्द होना आदि |

परिवारिक नुकसान :- परिवार के सदस्यों के प्रति लापरवाह बन जाना, परिवार के सदस्यो की जरूरतो पर ध्यान न देना, पारिवारिक समारोह » कार्यक्रमों में शामिल न होना, पारिवारिक झगड़े, झगड़ो के कारण बच्चो की पढ़ाई में प्रभाव, झगड़ो के कारण परिवार के सदस्यों का परिवार से अलग होना |

आर्थिक नुकसान :- नशा करने वाले व्यक्ति को या उसके परिवार के सदस्यो को हमेंशा आथिक तंगी का सामना करना पड़ता हैं, क्योकि कमाई का ज्यादा हिस्सा नशे में खर्च हो जाता हैं | नशे की अधिकता के कारण रोजगार पर भी प्रभाव पडता है ।

सामाजिक नुकसान :- नशा करने वाले व्यक्ति की नौकरी चली जाना, व्यवसाय में नुकसान या बंद होना, घर, मोहल्ला, कार्यालय, समाज मे व्यक्ति व उसके परिवार की बदनामी होना |
Physical Damage : Due to continuous addiction most of the parts of the body get damaged making him weak and his immunity gets lower. Many other symptoms such as lack of hunger, body shaking, lever problems, weight lose, body pain etc occur.

Sour Family Relations : Addicted person starts ignoring his duties towards his family. Avoid family functions such as marriages and other events. Domestic quarrels and violence take place frequently, due to which separation of parents may take place. Studies of children are also affected adversely, making them emotionally weak and results in difficulty in solving their problems due to lack of guidance.

Financial Loss: The family of addict always face financial crisis due to lack of funds as most of the resources are used by the addict himself. The addict tend to neglect his employment which can also result in his job loss.

Social Loss: An addict is not respected anywhere in the society and due to this he may face loss in his business, lack of trust in relations.

Contact Us